मैं जोगी बनूँ या लुटेरा ?


Kmsraj51 की कलम से…..

Kmsraj51-CYMT08

ϒ मैं जोगी बनूँ या लुटेरा ? ϒ

दोस्तों – को राम राम, बच्चों को जय हिन्द , और बड़ों को धोक (बड़ो के आगे झुकना )…..

मैं पता नहीं किस किस्म का आदमी हूँ ? जिसे कुछ समझ ही नहीं आता जैसे दिमाग ना हो, खूब है मन में जोश…और भरपूर है शरीर में जान।

जुर्म अक्सर भोले-भाले या निर्बल पर ही होता है। क्या ये बात सही है ?

मेरे साथ या मेरे जैसे लोगो के साथ रोज ना जाने कितने जुर्म होते है, पर मेरा नंबर महीने में एक या दो बार आ ही जाता है चाहे वो जुर्म छोटा हो या बड़ा, नंबर तो आपका भी आता होगा ?

अब आप मुझे ये बतावो की मैं जोगी बनूँ या लुटेरा ? जोगी बनूँ या लुटेरा ? जोगी बनूँ या लुटेरा ?

जोगी बनने का कारण ये है…..
मैं जोगी बनूँ क्योंकि मेरे पर जुर्म होता है या में जुर्म होते चुपचाप देखता हूँ ?

मैं जोगी बनूँ क्योंकि मेरा एक परिवार है ?

मैं जोगी बनूँ क्योंकि जब मैं आवाज लगाऊ तो कोई सुने नहीं ?
मैं जोगी बनूँ क्योंकि जुर्म करने वाले मेरे सामने नहीं ?

मैं जोगी बनूँ क्योंकि मेरे देश में सब कुछ बिकाऊ है ?
लुटेरा बनने के कारण ये है…

मैं लुटेरा बनूँ क्योंकि तूने मेरे को पहले लूटा ?

मैं लुटेरा बनूँ क्योंकि जब मैंने आवाज दी तो सुनी नहीं, अब तू आवाज लगा ?

मैं लुटेरा बनूँ – क्योंकि मेरा देश तुम नौकर कैसे बेच सकते हो जब तुम्हारा कुछ है ही नहीं ?

मैं लुटेरा बनूँ – क्योंकि मैं आने वाले वंश को क्या जबाब और कैसा माहौल देकर जाने वाला हु।

आज तो सबने मुझे और खुद में जोगी बनकर बैठ जाऊंगा पर एकदिन तो लुटेरा बनना ही पड़ेगा की नहीं ?

आज बतावो?
प्रश्न : बलात्कार क्यों होते है? और क्या बलात्कार करने वाला ही अकेला दोषी है? अगर इस घिनौनी हरकत का अकेला बलात्कारी दोषी नहीं तो और कौन-कौन है?

उत्तर : सिनेमा, अश्लील फिल्में, संस्कृति और वातावरण, शिक्षा। मैं ये पूछता हु की उत्तेजित बलात्कारी में दिमाग होता है क्या जो ये सोच सके की मैं जो कर रहा हु वो सही है या गलत?

प्रश्न : जिस बेटे को मां-बाप ने जन्म दिया, पोषण दिया, उसे बड़ा किया। उसी बेटे ने उन्हें घर से बुढ़ापे में निकाल दिया क्यों ? क्या इस घिनौनी हरकत का बेटा अकेला जिम्मेदार है ?

उत्तर : मां-बाप ने या तो दादी-दादा के पास रहने नहीं दिया हो ?
या अंग्रेजी माध्यम की शिक्षा दी होगी?
या उन्हें परिवार का मतलब नहीं बताया होगा ?

या उनको नयी जीवन शैली शिखा दी होगी जिसमे केवल मैं, मेरी बीवी,और मेरे प्यारे बच्चे आते हो?

या आपने अपने माँ-बाप के साथ ऐसा करके दिखाया हो की ऐसे घर से बेघर करते है माँ-बाप को।

प्रश्न : आजकल हर कोई आशिक बनकर किसी की भी जान ले लेता है या तेजाब डाल देता है या बेइज्जत कर देता है या शादी के बाद दूसरी/दूसरे से प्यार हो जाता है क्यों ?

उत्तर : क्योंकि बॉलीवुड, हॉलीवुड, टालीवुड और न जाने कितने वुड है और न जाने कितने धारावाहिक है जो ये ही सिखाने में व्यस्त है की कितने तरीको से प्यार होता है? ….. और सामने वाले को न मानते हुए भी कैसे मजबूर किया जाता है और भी बहुत कुछ ?

जाने अनजाने में लड़की ने आशिक तो बना लिया हो – पर अंजाम कही और ले गया हो।

घर वालो से सही शिक्षा ली नहीं हो यां घर वालो ने दी नहीं हो ?
या परिवार का माहौल ही ऐसा ही बना रखा हो।

मैं लुटेरा बनकर उस एक बलात्कारी को तो मार सकता हु पर जो करवाने वाला है उसे कहा ढूँढू? उन्हें कैसे मारू ?

मैं लुटेरा बनकर उस एक बेटे को तो मार दू पर आने वाले वंश का क्या करूँ जिसको अापने अकेला रहना सिखा दिया?

मैं लुटेरा बनकर उस आशिक का तो अंतिम संस्कार कर दू पर जो आज आशिकी सीख रहे है उनका क्या करू ?

अब आप ही बताओ मैं जोगी बनूँ या लुटेरा?

Note:-

यदि आपके पास हिंदी या अंग्रेजी में कोई Article, Inspirational StoryPoetry या जानकारी है जो आप हमारे साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ E-mail करें. हमारी Id है: kmsraj51@hotmail.com. पसंद आने पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ यहाँ PUBLISH करेंगे. Thanks!!

Also mail me ID: cymtkmsraj51@hotmail.com (Fast reply)

cymt-kmsraj51

सफलता कठोर मेहनत और खुद पर भरोसा करने से मिलती है।
यह गिफ्ट में या धनी परिवार में पैदा होने से नहीं मिलती है।
~Kmsraj51

– कुछ उपयोगी पोस्ट सफल जीवन से संबंधित –

* विचारों की शक्ति-(The Power of Thoughts)

* खुश रहने के तरीके हिन्दी में।

* अपनी खुद की किस्मत बनाओ।

* सकारात्‍मक सोच है जीवन का सक्‍सेस मंत्र 

* चांदी की छड़ी।

 

 

 

 

 

_______Copyright © 2013-2017 kmsraj51.com All Rights Reserved.________

Advertisements