हिंदी और अंग्रेजी में मुरली


Kmsraj51 की कलम से…..

CYMT-Kmsraj51

हिंदी मुरली (19-Sep-2014)

मुरली सार:- “मीठे बच्चे – तुम सर्व आत्माओं को कर्मबन्धन से सैलवेज़ करने वाले सैलवेशन आर्मी हो, तुम्हें कर्मबन्धन में नहीं फँसना है”

प्रश्न:- कौन-सी प्रैक्टिस करते रहो तो आत्मा बहुत-बहुत शक्तिशाली बन जायेगी?
उत्तर:- जब भी समय मिले तो शरीर से डिटैच होने की प्रैक्टिस करो। डिटैच होने से आत्मा में शक्ति वापिस आयेगी, उसमें बल भरेगा। तुम अण्डर-ग्राउण्ड मिलेट्री हो, तुम्हें डायरेक्शन मिलता है – अटेन्शन प्लीज़ अर्थात् एक बाप की याद में रहो, अशरीरी हो जाओ।

धारणा के लिए मुख्य सार:-
1) लाइट हाउस बन सबको शान्तिधाम, सुखधाम का रास्ता बताना है। सबकी नईया को दु:खधाम से निकालने की सेवा करनी है। अपना भी कल्याण करना है।
2) अपने शान्त स्वरूप स्थिति में स्थित हो शरीर से डिटैच होने का अभ्यास करना है, याद में आंखे खोलकर बैठना है, बुद्धि से रचता और रचना का सिमरण करना है।

वरदान:- कोई भी बात कल्याण की भावना से देखने और सुनने वाले परदर्शन मुक्त भव
जितना संगठन बड़ा होता जाता है, बातें भी उतनी बड़ी होंगी। लेकिन अपनी सेफ्टी तब है जब देखते हुए न देखें, सुनते हुए न सुनें। अपने स्वचिंतन में रहें। स्वचिंतन करने वाली आत्मा परदर्शन से मुक्त हो जाती है। अगर किसी कारण से सुनना पड़ता है, अपने आपको जिम्मेवार समझते हो तो पहले अपनी ब्रेक को पावरफुल बनाओ। देखा-सुना, जहाँ तक हो सका कल्याण किया और फुल स्टॉप।

स्लोगन:- अपने सन्तुष्ट, खुशनुम: जीवन से हर कदम में सेवा करने वाले ही सच्चे सेवाधारी हैं।

English Murli (19-Sep-2014)

Essence: Sweet children, you are the Salvation Army who will salvage all souls from their karmic bondages. You must not become trapped in karmic bondages.

Question: What should you continue to practise so that the soul becomes very powerful?
Answer: Whenever you have time, practise becoming detached from the body. By becoming detached, the soul will regain power and become filled with strength. You are the underground military and are given the direction, “Attention please!”, that is, “Stay in remembrance of the one Father and become bodiless.”

Essence for dharna:
1. Become a lighthouse and show everyone the way to the land of peace and the land of happiness. Do the service of removing everyone’s boat from the land of sorrow. Also benefit yourself.
2. Remain stable in your peaceful form and practise becoming detached from your body. Sit in remembrance with your eyes open. Remember the Creator and creation with your intellect.

Blessing: May you be free from looking at others, and have feelings of benevolence when seeing or hearing about any situation.
The bigger the gathering, the bigger the situations will be. However, your safety lies in looking but not seeing and hearing but not listening. Maintain pure and positive thoughts for the self. Souls who maintain pure and positive thoughts for the self remain free from looking at others. If due to any reason you have to listen to anything and you consider yourself to be responsible, then, first of all, make your brake powerful. You saw, you heard and brought as much as benefit possible and put a full stop.

Slogan: Those who do service at every step through their contented and happy lives are true servers.

आध्यात्मिक सेवा में ब्रह्मकुमारी,

In Spiritual Service Brahmakumari,

Note::-

यदि आपके पास हिंदी या अंग्रेजी में कोई Article, Inspirational StoryPoetry या जानकारी है जो आप हमारे साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ E-mail करें. हमारी Id है: kmsraj51@hotmail.comपसंद आने पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ यहाँ PUBLISH करेंगे. Thanks!!

Also mail me ID: cymtkmsraj51@hotmail.com (Fast reply)

In-English…..

Purity is the foundation of true peace & happiness,

It is your most valuable Property in your life,

Preserve it at any cast. !!

 

In-Hindi…..

पवित्रता सच शांति और खुशी का आधार है.

यह आपके जीवन में सबसे मूल्यवान संपत्ति है.

यह किसी भी कलाकार की रक्षा करता है!!

~KMSRAJ51

CYMT-Beautiful Flower-kmsraj51

आप कुछ भी कर सकते हैं, स्वयं पर विश्वास करना सीखें।

You can also learn to trust themselves.

-कृष्ण मोहन सिंह ५१

 

 

 

_____ all @rights reserve under Kmsraj51-2013-2014 ______