ये कैसा प्यार।

Kmsraj51 की कलम से…..

CYMT-KMSRAJ51-4

ϒ ये कैसा प्यार। ϒ

आज स्कूल, कालेजो में बहुत अच्छा प्यार देखने को मिल रहा है। लड़का-लड़की कॉलेज के पास खोके के दुकान में सिगरेट, दारू और न जाने कौन सी नशीली पदार्थ का सेवन करके अपना प्यार प्रदर्शित कर रहे है। कॉलेज के घास के मैदानों में चुम्बन का सार्वजनिक रूप से प्रदर्शन।रोज गले य हाथ मिलाओ तो प्यार। बताने को बहुत कुछ है पर आगे बढ़ा तो शब्द कम पढ़ेंगे।

सारांश में कहूँ तो कुछ तत्व ने प्यार की परिभाषा को ही कलंकित करने का काम किया है। जो फूहड़पन, अभद्रता है उसे प्यार समझ बैठे है। ऐसे काफी प्रेमी जोड़े से जब मैंने सवाल किया कि क्या आप उससे शादी करेंगे तो जवाब हाँ, ना कुछ नही कह सकते का था। जिन्हें अपने प्यार पे ही भरोसा नही तो काहे का प्यार।

सिर्फ मानसिक-शारीरिक संतुष्टि और अकेलेपन मिटाने के लिए जिसको प्यार का नाम दिया जा रहा है उसको समाज में कुछ और ही कहते है। हिम्मत हो तो किसी सभ्य व्यक्ति से पूछ लीजिये। अच्छा जवाब मिलेगा।

आज प्यार व्हाट्स से शुरू होता है तो ब्लाक पर जाकर खत्म होता है। प्यार विश्वास और सम्मान है न कि अपना स्वार्थ सिद्ध न होने पर उठाये गये ऐसे कृत्य जो प्यार को शर्मसार और उस को करने से भयभीत कर दे। आज प्यार न मिलने पर कोई हत्या, बलात्कार, आत्महत्या और न जाने क्या क्या अपराध करने लगते है।

नशा, चोर सब गुनाहों को करने से पीछे नही हटते। मै समझता हूँ प्यार को परिभाषित नही कर सकते बस महसूस कर सकते है। प्यार होना कोई बुरी बात नही है और ये किसी भी व्यक्ति को हो सकता है जो दिलदार हो जो खुले दिल का हो। अरे जानवर को भी प्यार होता है तो इन्सान को न हो ये अपने आप में अजीब बात होगी। पर प्यार को निभाना और उसे खत्म करना या उसे मंजिल देना ये अपने हाथ में होता है।

इसीलिए अपने प्यार को या तो गति तभी दीजिये जब आपको लगे आपका प्यार सच्चा, विश्वसनीय है क्योंकि मुखौटे पहने व्यक्ति प्यार का ढोंग करने वाले आज काफी है जो अपने आप को मानसिक रूप से संतुष्ट करने के लिए भी ये गलतियाँ कर देते है! और कृपया एक बात जरुर याद रखिये! किसी लड़के और लड़की के चक्कर में अपने जीवन को दांव पे मत लगाना, क्योंकि आपके जीवन से करोड़ो लोगो की आशाये जुडी है और उनका आपके प्रति प्यार भी।

अगर आप ठुकराए गये है तो नाराज मत होइए। अपने अंदर कमी तलाशिये और उस कमी को खत्म कीजिये! न कि खुद को फलाना लड़के-लड़की द्वारा ठुकराए जाने पर खुद को दिन-हिन् समझिये।

एक चमकीले पत्थर को सब्जी वाला तोलने के लिए देखता है, तो एक व्यापारी उसे कागज पर रखने वाला मात्र एक पत्थर! और जब वही चमकीला पत्थर एक जेवरात की दुकान में पहुँचता है तो उसकी कीमत करोड़ो में हो जाती है।

कमी आप अपने अंदर तलाशने इसीलिए कह रहा हूँ क्योंकि उससे आप में सकारात्मक बदलाव आयेंगे जिससे आपका जीवन और निखरेगा और भविष्य संवरेगा। आप उस चमकिले पत्थर की तरह ही है जो शायद एक सब्जी वाले के पास था लेकिन उसकी असली कीमत जेवरात के दुकान पे ही उसको पता चली। सोचिये अगर वो पत्थर जेवरात की दुकान पे न गया होता तो क्या उसको अपनी कीमत पता चलती !! नही न ??

इसीलिए यदि आप धोखे या ठुकराए जाने का शिकार है तो निराश न होए और अकेला बिलकुल न रहे। दोस्तों के संग रहे, भाई-बहन के साथ रहे। अपने साथ जो हुआ उसको न सोचे और जो कार्य आपको सबसे ज्यादा भाता है वो करे। अपने परिवार को या किसी विश्वसनीय को सब कुछ बता दे और जी भर कर रो ले और अगले दिन से अपने जीवन को नये सिरे से शुरू करे।

ये मत भूले कि आप भी वो चमकिले पत्थर की तरह है। बस दृष्टिकोण का फर्क है कोई आपको किसी नजर से देखता है तो कोई किसी नजर से। आप ये संकल्प ले कि अतीत में जो हुआ उसे वर्तमान में कभी आने नही दोगे। एक हादसे की तरह इसे भूल जाये और जीवन में बहुत कुछ है जो आपको पाना है।

अपने जीवन को देखे कि आपके जीवन से कितने लोग जुड़े हुए है और कितने लोगो की आशाये है। प्यार दो व्यक्तियों के विचारधारा के मिलने का एक प्रतीक है। उस विचारधारा को आगे बढाये और अपने प्यार की लहरों से समाज के असहाय वर्गो की नौका पार कराये।

हमारा जीवन सिर्फ खाना-खाने, स्कूल, कॉलेज, नौकरी, मस्ती के लिए नही बल्कि सामाजिक विसंगतियो को खत्म करने ! और कई तरह के जिम्मेदारी की पूर्ति हेतु हुआ है। उसे समझिये और उस जिम्मेदारी को पूरा करने हेतु तत्पर रहिये ! ऐसे प्यार का त्याग करना सर्वदा उचित है जो आपके विचार-धारा के विपरीत, आपके सिद्धांतो के विपरीत है इसीलिए शारीरक प्यास को तिलांजलि देते हुए अपने जिम्मेदारी भरे जीवन के महत्व को समझे।

वैसे भी मकान बनने से ज्यादा समय महल बनने में लगता है इसीलिए धैर्य रखिये और सकारात्मक सोच रखिये। अगर आप प्यारे व्यक्ति है सच्चे व्यक्ति है और सबका भला सोचते है तो आपको प्यार समय आने पर अवश्य मिलेगा बस अतीत की घटनाओ का वर्तमान क्रियाकलापों पर किसी भी तरह प्रभाव न पड़ने दे।

क्योंकि जिस तरह प्यार और सम्मान किसी तारिक विशेष की मोहताज नही उसी प्रकार समय किसी व्यक्ति की मोहताज नहीं। समय सबको बराबर मिला है चाहे वो पप्पू या कजरी ही क्यों न हो।

© सारांश सागर जी – नोएडा, उत्तर प्रदेश ®

हम दिल से आभारी हैं सारांश सागर जी के प्रेरणादायक हिन्दी Article ये कैसा प्यार साझा करने के लिए। हम आपके उज्ज्वल भविष्य की कामना करते हैं।

CYMT-KMSRAJ51

पढ़ेंविमल गांधी जी कि शिक्षाप्रद कविताओं का विशाल संग्रह।

Please Share your comment`s.

© आप सभी का प्रिय दोस्त ®

Krishna Mohan Singh(KMS)
Editor in Chief, Founder & CEO
of,,  https://kmsraj51.com/

जैसे शरीर के लिए भोजन जरूरी है वैसे ही मस्तिष्क के लिए भी सकारात्मक ज्ञान और ध्यान रुपी भोजन जरूरी हैं। ~ कृष्ण मोहन सिंह(KMS)

 ~Kmsraj51

———– © Best of Luck ® ———–

Note::-

यदि आपके पास हिंदी या अंग्रेजी में कोई Article, Inspirational StoryPoetry या जानकारी है जो आप हमारे साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ E-mail करें. हमारी Id है: kmsraj51@hotmail.com. पसंद आने पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ यहाँ PUBLISH करेंगे. Thanks!!

Also mail me ID: cymtkmsraj51@hotmail.com (Fast reply)

cymt-kmsraj51

– कुछ उपयोगी पोस्ट सफल जीवन से संबंधित –

* विचारों की शक्ति-(The Power of Thoughts)

* अपनी आदतों को कैसे बदलें।

निश्चित सफलता के २१ सूत्र।

क्या करें – क्या ना करें।

∗ जीवन परिवर्तक 51 सकारात्मक Quotes of KMSRAJ51

* विचारों का स्तर श्रेष्ठ व पवित्र हो।

* अच्छी आदतें कैसे डालें।

KMSRAJ51 के महान विचार हिंदी में।

* खुश रहने के तरीके हिन्दी में।

* अपनी खुद की किस्मत बनाओ।

* सकारात्‍मक सोच है जीवन का सक्‍सेस मंत्र 

* चांदी की छड़ी।

kmsraj51- C Y M T

“सफलता का सबसे बड़ा सूत्र”(KMSRAJ51)

“स्वयं से वार्तालाप(बातचीत) करके जीवन में आश्चर्यजनक परिवर्तन लाया जा सकता है। ऐसा करके आप अपने भीतर छिपी बुराईयाें(Weakness) काे पहचानते है, और स्वयं काे अच्छा बनने के लिए प्रोत्सािहत करते हैं।”

In English

Amazing changes the conversation yourself can be brought tolife by. By doing this you Recognize hidden within the buraiyaensolar radiation, and encourage good solar radiation to becomethemselves.

 ~KMSRAJ51 (“तू ना हो निराश कभी मन से” किताब से)

“अगर अपने कार्य से आप स्वयं संतुष्ट हैं, ताे फिर अन्य लोग क्या कहते हैं उसकी परवाह ना करें।”

~KMSRAJ51

 

 

 

निश्चित रूप से सफलता के कारगर सूत्र।

Kmsraj51 की कलम से…..

CYMT-KMSRAJ51-4

ϒ निश्चित रूप से सफलता के कारगर सूत्र। ϒ

=> हर इंसान काे प्रतिदिन चौबीस घंटे(24 Hour) ही मिलता हैं। But इस 24 Hour काे जाे जैसे Use करता है, उसी तरह वह सफल `या` असफल हाेता हैं अपने जीवन में।

kmsraj51-certainly-effective-formula-for-success

=> इस संसार में सबसे बडा धन समय ही हैं। क्योंकि जाे समय अभी चला गया, उसे खरबाें रुपये खर्च कर भी – वापस नहीं लाया जा सकता। समय का मूल्य काेई भी नहीं लगा सकता।

=> यू ही समय काे व्यर्थ ना गवाए, वर्ना पछताने के अलावा – कुछ ना बचेगा जीवन में।

=> आपके सफल हाेने में सबसे बडी बाधा जानते है क्या हैं – आपके अपने विचार, और आपकाे सफल हाेने से राेक काैन रहा है – आप स्वयं अपने आप काे राेक रहे हैं। जीवन में सफलता `या` असफलता का जिम्मेदार(उत्तरदायी) इंसान स्वयं हाेता हैं।

=> अपनी साेच काे सदैव सकारात्मक रखें। जब भी मन में Negative विचार आये उसे Neglect(नज़रअंदाज़) कर, Positive Way में अपने विचाराें काे माेड़ दे।

=> सफल हाेने का सबसे बडा़ मुल मंत्र है, कि अपनी बुरी आदते छाेड दे, व समय व्यर्थ गवाना छाेड दें। अपनी Inner Power(आत्मा की शक्ति) काे जागृत करें, तथा अपने मन काे सदैव सकारात्मक सोच व कार्य में व्यस्त रखें।

ने लक्ष्य काे इतना महानना दाे कि व्यर्थ के लिसमय ही नाचे

~Kmsraj51

Please Share your comment`s.

© आप सभी का प्रिय दोस्त ®

Krishna Mohan Singh(KMS)
Head Editor, Founder & CEO
of,,  https://kmsraj51.com/

जैसे शरीर के लिए भोजन जरूरी है वैसे ही मस्तिष्क के लिए भी सकारात्मक ज्ञान और ध्यान रुपी भोजन जरूरी हैं। ~ कृष्ण मोहन सिंह(KMS)

 ~Kmsraj51

———– © Best of Luck ® ———–

Note::-

यदि आपके पास हिंदी या अंग्रेजी में कोई Article, Inspirational StoryPoetry या जानकारी है जो आप हमारे साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ E-mail करें. हमारी Id है: kmsraj51@hotmail.com. पसंद आने पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ यहाँ PUBLISH करेंगे. Thanks!!

Also mail me ID: cymtkmsraj51@hotmail.com (Fast reply)

cymt-kmsraj51

– कुछ उपयोगी पोस्ट सफल जीवन से संबंधित –

* विचारों की शक्ति-(The Power of Thoughts)

* अपनी आदतों को कैसे बदलें।

निश्चित सफलता के २१ सूत्र।

क्या करें – क्या ना करें।

∗ जीवन परिवर्तक 51 सकारात्मक Quotes of KMSRAJ51

* विचारों का स्तर श्रेष्ठ व पवित्र हो।

* अच्छी आदतें कैसे डालें।

KMSRAJ51 के महान विचार हिंदी में।

* खुश रहने के तरीके हिन्दी में।

* अपनी खुद की किस्मत बनाओ।

* सकारात्‍मक सोच है जीवन का सक्‍सेस मंत्र 

* चांदी की छड़ी।

kmsraj51- C Y M T

“सफलता का सबसे बड़ा सूत्र”(KMSRAJ51)

“स्वयं से वार्तालाप(बातचीत) करके जीवन में आश्चर्यजनक परिवर्तन लाया जा सकता है। ऐसा करके आप अपने भीतर छिपी बुराईयाें(Weakness) काे पहचानते है, और स्वयं काे अच्छा बनने के लिए प्रोत्सािहत करते हैं।”

In English

Amazing changes the conversation yourself can be brought tolife by. By doing this you Recognize hidden within the buraiyaensolar radiation, and encourage good solar radiation to becomethemselves.

 ~KMSRAJ51 (“तू ना हो निराश कभी मन से” किताब से)

“अगर अपने कार्य से आप स्वयं संतुष्ट हैं, ताे फिर अन्य लोग क्या कहते हैं उसकी परवाह ना करें।”

~KMSRAJ51

 

 

अपने मन के विचारों को बदलें।

Kmsraj51 की कलम से…..

CYMT-KMSRAJ51-4

ϒ Quotes – अपने मन के विचारों को बदलें। ϒ

प्यारे दोस्तों –

अगर आप अपने मन के विचारों को बदलें ताे आपका जीवन बदल जायेगा। क्योंकि विचार ही किसी कर्म का blueprint हाेता हैं।

quotes-cymt-kmsraj51

“विश्वास एक छोटा शब्द है – जिसे पढ़ने मे तो सिर्फ एक सेकेण्ड लगता है।”
“साेचो तो एक मिनट लगता है – समझो तो एक दिन लगता है।”
“पर साबित करने मे – जिंदगी लगती है।”(1)

***** ° *****

“किसी को किसी ग़लती के लिये – माफ़ कर देना कुछ हद तक सही है।
लेकिन एक बार उसे माफ़ कर देने पर – वापिस उस पर ही विश्वास करना बेफकूफी है।”(2)

***** ° *****

“हालात उनके ही अच्छे होते है – जो इन्हें बेहतर बनाने के लिये… बेहतर से बेहतर तरीक़े तलाशते है।
हाथ पर हाथ रख कर बैठने से – हालात कभी भी अच्छे नही हो पाते।”(3)

***** ° *****

“जिंदगी एक अभिलाषा है – अजब इसकी परिभाषा है।
जिंदगी क्या है मत पूछो – सँवर गई तो जन्नत है।
बिखर गयी तो तमाशा है – लाेगाे काे इसे देख मजा आता है।”(4)

***** ° *****

दोस्ती से क़ीमती कोई – जागीर नही होती।
दोस्ती से ख़ूबसूरत कोई – तस्वीर नही हाेती।
दोस्ती यू तो कच्चा धागा है – मगर इस धागे से मज़बूत … कोई ज़ंजीर नही हाेती।
नसीब से मिलते है दोस्त दुनिया मे।(5)

***** ° *****

बनो सहारा बेसहारो के लिये – बनो किनारा बेकिनारो के लिये।
जो जीये अपने लिये तो क्या जीना।
जी सको तो जीयो – हज़ाराे के लिये।(6)

***** ° *****

“गुजरी हुई जिंदगी को कभी याद न कर – तकदीर मे जो लिखा है उसकी फर्याद न कर।
जो होगा वो होकर रहेगा – तु कल की फिकर मे अपनी आज की हसी को बर्बाद न कर।
आज मे जी खुशी से कल को याद ना कर।”(7)

***** ° *****

मौत से लगता है डर सबको – जिंदगी से होती है मोहब्बत सभी को।
पर जिंदगी किसी की मोहब्बत नहीं होती।

तमन्ना लेकर जीते है सब लाेग – मगर हर तमन्ना तक़दीर नही होती।
जो जीते है खुशी से वह मौत को भी – गले लगाते है खुशी से।(8)

***** ° *****

टेढ़े के साथ टेढ़ा हो जाना तो – जगत में सभी को आता और यह तो स्वाभाविक ही है।
लेकिन टेढ़े इंसान के साथ अच्छा – रहने का चमत्कार तो केवल ज्ञानी व्यक्ति ही कर सकता है।(9)

***** ° *****

नहीं रहता कोई शख़्स अधूरा किसी के बिना।
समय गुजर ही जाता है – कुछ पा कर भी और कुछ खो कर भी।
सब काम जीवन मे चलते रहते है – समय के साथ-साथ।
किसी के बिना जीवन कभी रूकता नही।(10)

***** ° *****

तूफ़ान में ताश का घर नहीं बनता – रोने से बिगड़ा मुक़द्दर नही बनता।
दुनिया को जीतने का हौसला रखो।
एक हार से कोई फ़क़ीर नहीं बनता और एक जीत से कोई सिकन्दर नही बनता।(11)

***** ° *****

मौत तो आनी है एक दिन – उससे भला क्या डरना।
जिंदगी है चार दिन की – फिर भला क्यों बुरा करना किसी का।
करना है तो भला करो सबका।
अगर भला नही कर पाते तो – कभी भी बुरा ना करना किसी का।(12)

***** ° *****

मौन क्रोध की सर्वोत्तम चिकित्सा है, जब-जब कोध् चढ़े तब तब –
थोड़ी देर के लिये मौन रख लेना चाहिये, ताकि गलत अल्फ़ाज़ मुँह से ना निकले।
क्योंकि एक भी गलत अल्फ़ाज़ – मीठे रिश्तों को खराब कर देता है।(13)

***** ° *****

मन अगर अशांत है और बेचैन है ताे उसे नियंत्रित करना बहुत कठिन काम है।
लेकिन निरंतर अभ्यास से इसे वश में किया जा सकता है।
मन अगर नियंत्रित है ताे – इंसान काेई गलत कार्य नही कर सकता।(14)

***** ° *****

कोई अगर आप को अच्छा लगता है तो अच्छा वो नही – आप हो क्योंकि उसमें अच्छाई देखने वाली नजर आपके पास है।
इंसान अगर खुद अच्छा है तो, उसका मन अच्छा है तो – उसे सब अच्छे ही लगते है।
बुरे इंसान को सब बुरे ही लगते है।(15)

***** ° *****

बिना वजह मन पर कोई बाेझ ना रखिये।
जिंदगी हर घड़ी इक नयी नयी जंग है।
इस जंग को जारी रखिये।
हार और जीत तो है इक जीवन का हिस्सा।
जीतने से ना अकड़ जाईये और ना हारने से ही दुँखी हो जाईये।(16)

***** ° *****

यह उम्मीद मत रखना कि तुम गिरोगे तो – तुम्हें कोई उठा लेगा।
दरिया मे डूबोगे तो – कोई तुम्हें बचा लेगा।

ये दुनिया तो है एक तमाशबीनो का अड्डा।
देखेंगे तुम्हे अगर मुसीबत में तो – हर कोई यहाँ मजा लेगा।(17)

***** ° *****

जाने वाले चले जाते है – यादे पीछे रह जाती है।
उनके चले जाने से – इतनी सी कमी रहती है कि चाहे लाख मुस्करा लो –
लेकिन आँखाे मे नमी रहती है।(18)

***** ° *****

प्यार इंसान से करो उसकी आदत से नही।
रूठो उनकी बातो से पर उनसे नही।

भूलो उनकी गलतियाँ पर उन्हें नही।
क्योंकि रिश्तों से बढ़कर कुछ भी नहीं।

चार रिश्ते अगर जीवन मे मधुर है।
तो उसके जैसा सुख कही पर भी नहीं।(19)

***** ° *****

गलतियाँ करना जीवन का एक हिस्सा है।
लेकिन ग़लतियाँ करके स्वीकार करने का साहस बहुत कम लोगो मे होता है।(20)

***** ° *****

स्वार्थ से कितने भी रिश्ते बनाने की कोशिश करो – वो कभी बनते नही।
प्यार से बने रिश्ते कितने भी तोड़ने की काेशिश करो – वो कभी टूटते नही।
स्वार्थ मे सिर्फ स्वार्थ रहता है – प्यार नही।(21)

प्यारे दोस्तों – आपके लिए काैन से Quotes कारगर सिद्ध हुऐ या अच्छें लगे Comments कर जरुर बताये।

©- विमल गांधी। 

Vimal Gandhi-kmsraj51

विमल गांधी जी।

हम दिल से आभारी हैं विमल गांधी जी के प्रेरणादायक हिन्दी Quotes साझा करने के लिए।

विमल गांधी जी के लिए मेरे विचार: 

“विमल गांधी जी” की Quotes के हर एक शब्द में अलाैकिक सार भरा हैं। जाे हर एक शब्द पर विचार सागर-मंथन कर हृदयसात करने योग्य हैं। Quotes छोटी और सरल शब्दाे में हाेते हुँये भी हृदयसात करने योग्य हैं। जाे भी इंसान इन Quotes काे गहराई(हर शब्दाे का सार) से समझकर आत्मसात करें, उसका जीवन धन्य हाे जायें।

पढ़ेंविमल गांधी जी कि शिक्षाप्रद कविताओं का विशाल संग्रह।

Please Share your comment`s.

© आप सभी का प्रिय दोस्त ®

Krishna Mohan Singh(KMS)
Head Editor, Founder & CEO
of,,  https://kmsraj51.com/

जैसे शरीर के लिए भोजन जरूरी है वैसे ही मस्तिष्क के लिए भी सकारात्मक ज्ञान और ध्यान रुपी भोजन जरूरी हैं। ~ कृष्ण मोहन सिंह(KMS)

 ~Kmsraj51

———– © Best of Luck ® ———–

Note::-

यदि आपके पास हिंदी या अंग्रेजी में कोई Article, Inspirational StoryPoetry या जानकारी है जो आप हमारे साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ E-mail करें. हमारी Id है: kmsraj51@hotmail.com. पसंद आने पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ यहाँ PUBLISH करेंगे. Thanks!!

Also mail me ID: cymtkmsraj51@hotmail.com (Fast reply)

cymt-kmsraj51

– कुछ उपयोगी पोस्ट सफल जीवन से संबंधित –

* विचारों की शक्ति-(The Power of Thoughts)

* अपनी आदतों को कैसे बदलें।

निश्चित सफलता के २१ सूत्र।

क्या करें – क्या ना करें।

∗ जीवन परिवर्तक 51 सकारात्मक Quotes of KMSRAJ51

* विचारों का स्तर श्रेष्ठ व पवित्र हो।

* अच्छी आदतें कैसे डालें।

KMSRAJ51 के महान विचार हिंदी में।

* खुश रहने के तरीके हिन्दी में।

* अपनी खुद की किस्मत बनाओ।

* सकारात्‍मक सोच है जीवन का सक्‍सेस मंत्र 

* चांदी की छड़ी।

kmsraj51- C Y M T

“सफलता का सबसे बड़ा सूत्र”(KMSRAJ51)

“स्वयं से वार्तालाप(बातचीत) करके जीवन में आश्चर्यजनक परिवर्तन लाया जा सकता है। ऐसा करके आप अपने भीतर छिपी बुराईयाें(Weakness) काे पहचानते है, और स्वयं काे अच्छा बनने के लिए प्रोत्सािहत करते हैं।”

In English

Amazing changes the conversation yourself can be brought tolife by. By doing this you Recognize hidden within the buraiyaensolar radiation, and encourage good solar radiation to becomethemselves.

 ~KMSRAJ51 (“तू ना हो निराश कभी मन से” किताब से)

“अगर अपने कार्य से आप स्वयं संतुष्ट हैं, ताे फिर अन्य लोग क्या कहते हैं उसकी परवाह ना करें।”

~KMSRAJ51

 

 

21 ऐसे महावाक्य जो आपके जिंदगी को बदल दे।

Kmsraj51 की कलम से…..

CYMT-KMSRAJ51-4

ϒ 21 ऐसे महावाक्य जो आपके जिंदगी को बदल दे। ϒ

प्यारे दोस्तों – ज़िंदगी बहुत छोटी है इसलिए समय बर्बाद मत करो। समय के महत्व काे समझे व समय के साथ-२ चलने का अभ्यास करें। अपने Mind काे कुछ इस तरह से खुराक दें।

21-lcq-kmsraj51

  • जीवन में जब भी समस्याये आती है, हमारी साेई हुई मानसिक शक्तियों काे जगाकर जाती हैं।〈1〉
  • कहते है सत्य काे चाहे जितना भी छिपाने कि कोशिश करलाे, पर एक ना एक दिन सत्य प्रत्यक्ष हाे ही जाता हैं। इसलिए सत्य को कभी भी छिपाने की कोशिश ना करें।〈2〉
  • करुणा व शील किसी भी इंसान काे सत्य की गहराई तक ले जाता हैं।〈3〉
  • अपने स्‍वप्‍नाें काे अपने Mind में सदैव स्मरण(याद) करते रहाे और उसी अनुसार तीव्र गति से आगे बढ़ते रहाे।〈4〉
  • यह शरीर (हम मनुष्यों का शरीर) पांच तत्वों (Five Elements) से मिलकर बना है, शरीर सदैव ही इन्हीं पांच तत्वों(पृथ्वी, जल, अग्नि, वायु व आकाश) की माँग करता है, इस शरीर काे इन पांच तत्वों के अलावा और कुछ भी नहीं चाहिए।〈5〉
  • आत्मा इस शरीर रूपी कार का चालक(Driver) है, जब तक शरीर रूपी कार सही है- तब तक आत्मा इसे चलाती रहती हैं।〈6〉
  • हर एक इंसान(मनुष्य) कि यहीं सोच हाे, की उसकी वजह से कभी भी किसी काे कोई दुःख ना पहुँचे।〈7〉
  • हर इंसान(मनुष्य) के अंदर असीमित शक्तिया निहित(भरी) है। अपनी आंतरिक शक्तियों काे समय प्रमाण Use करना सीखें।〈8〉
  • आपकाे अपने और अपने कार्य के ऊपर पूर्ण विश्वास हैं ताे आपकाे अपने लक्ष्य तक पहुंचने से काेई भी(इंसान या शक्ति) राेक नहीं सकता।〈9〉
  • इस पृथ्वी पर सबसे ज्यादा अगर काेई पूज्यनीय है ताे वह है माता-पिता।〈10〉
  • अपने संकल्प और कर्म में दृढ़ता लाये, कोई भी निर्णय सोच-समझ कर ही लें।〈11〉
  • शरीर यदि बीमार है ताे आप मन से बीमार न हाे जाये, जाे मन से बीमार नहीं हाेता, उसके शरीर की बीमारी भी अतिशीघ्र ही दुर हाे जाती हैं।〈12〉
  • चिंता करने से मन और बुद्धि क्षीण हो जाती है। जिसके परिणाम स्वरूप ना ही सही सोच पाते हैं, ना ही सही निर्णय ले पाते हैं।〈13〉
  • जीवन में कभी भी सीखना(learn)बंद ना करें। हर एक क्षेत्र (Sector) का ज्ञान रखना अपने आप काे Present time में Secure रखने जैसा हैं।〈14〉
  • जीवन में हर एक चीज का बैलेंस बनाकर चलें।〈15〉
  • खान-पान और संग का असर मन पर बहुत ज्यादा पड़ता है। खान-पान में शुद्धि हाे और संग अच्छाें का हाे ताे ही अच्छा हैं।〈16〉
  • अच्छे व सच्चे इंसान काे आज के समय में सब नहीं पहचान पाते। अंतरज्ञानी आत्मा ही सच्चे इंसान काे पहचान पाती हैं।〈17〉
  • जीवन में जब भी बाेलाे सत्य ही बाेलाे, अन्यथा बाेलाे ही ना ताे ही अच्छा।〈18〉
  • चाहे काेई कितना भी बड़ा विकर्मी क्यो न हाे उसके अंदर भी कोई ना कोई गुण और विशेषताएं अवश्य हाेगी। गुणाे काे ग्रहण करना सीखें, चाहे परिस्थिति व स्थान कैसा भी हाे।〈19〉
  • अपनी सोच पर “विचार सागर मंथन” करना सीखें।〈20〉
  • अगर जीवन में कुछ करने की ठान लें, तो पीछे ना हटे।〈21〉

अपने आप को आप स्वयं रोकते है।~सबसे बड़ा रोग क्या कहेंगे लोग।

Kmsraj51

all thoughts of Krishna Mohan Singh or KMS also known as Kmsraj51

Please Share your comment`s.

© आप सभी का प्रिय दोस्त ®

Krishna Mohan Singh(KMS)
Head Editor, Founder & CEO
of,,  https://kmsraj51.com/

जैसे शरीर के लिए भोजन जरूरी है वैसे ही मस्तिष्क के लिए भी सकारात्मक ज्ञान और ध्यान रुपी भोजन जरूरी हैं। ~ कृष्ण मोहन सिंह(KMS)

 ~Kmsraj51

———– © Best of Luck ® ———–

Note::-

यदि आपके पास हिंदी या अंग्रेजी में कोई Article, Inspirational StoryPoetry या जानकारी है जो आप हमारे साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ E-mail करें. हमारी Id है: kmsraj51@hotmail.com. पसंद आने पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ यहाँ PUBLISH करेंगे. Thanks!!

Also mail me ID: cymtkmsraj51@hotmail.com (Fast reply)

cymt-kmsraj51

– कुछ उपयोगी पोस्ट सफल जीवन से संबंधित –

* विचारों की शक्ति-(The Power of Thoughts)

* अपनी आदतों को कैसे बदलें।

निश्चित सफलता के २१ सूत्र।

क्या करें – क्या ना करें।

∗ जीवन परिवर्तक 51 सकारात्मक Quotes of KMSRAJ51

* विचारों का स्तर श्रेष्ठ व पवित्र हो।

* अच्छी आदतें कैसे डालें।

KMSRAJ51 के महान विचार हिंदी में।

* खुश रहने के तरीके हिन्दी में।

* अपनी खुद की किस्मत बनाओ।

* सकारात्‍मक सोच है जीवन का सक्‍सेस मंत्र 

* चांदी की छड़ी।

kmsraj51- C Y M T

“सफलता का सबसे बड़ा सूत्र”(KMSRAJ51)

“स्वयं से वार्तालाप(बातचीत) करके जीवन में आश्चर्यजनक परिवर्तन लाया जा सकता है। ऐसा करके आप अपने भीतर छिपी बुराईयाें(Weakness) काे पहचानते है, और स्वयं काे अच्छा बनने के लिए प्रोत्सािहत करते हैं।”

In English

Amazing changes the conversation yourself can be brought tolife by. By doing this you Recognize hidden within the buraiyaensolar radiation, and encourage good solar radiation to becomethemselves.

 ~KMSRAJ51 (“तू ना हो निराश कभी मन से” किताब से)

“अगर अपने कार्य से आप स्वयं संतुष्ट हैं, ताे फिर अन्य लोग क्या कहते हैं उसकी परवाह ना करें।”

~KMSRAJ51

 

अपनी आदतों को कैसे बदलें।

Kmsraj51 की कलम से…..

CYMT-KMSRAJ51-4

ϒ अपनी आदतों को कैसे बदलें। ϒ

ज़िंदगी बहुत छोटी है इसलिए समय बर्बाद मत करो। 

प्यारे दोस्तों – ज़िंदगी बहुत छोटी है इसलिए समय बर्बाद मत करो। समय के महत्व काे समझे व समय के साथ-२ चलने का अभ्यास करें। अपने Mind काे कुछ इस तरह से खुराक दें।

how-to-change-your-habits-kmsraj51

  • अधिकतर लाेग अपनी आदताें काे खुद पर नियंत्रण करने की अनुमति दे देते हैं। अगर वे आदतें बुरी हाें, ताे उनके नज़रियाें पर नकारात्मक असर डालती हैं।
  • किसी भी इंसान के Mind काे काेई भी दृढ़ आदत डालने में कम से कम 21 दिन लगते हैं।
  • इंसान का Mind किसी भी प्रकार के कर्म काे निरंतर 21 दिनों तक करता रहता है ताे – आगे वह कर्म स्वतः ही बिना किसी अतिरिक्त प्रयास के निरंतर चलता रहता हैं।
  • आज के मनुष्य की सबसे बड़ी समस्या यह है कि काेई भी आदत डालने का संकल्प ताे ले लेते है, पर वह संकल्प दृढ़ नहीं हाेता – जिस कारण किसी भी नई आदत काे प्रारंभ करने के 3-7 दिन या ज्यादा से ज्यादा 15 दिनों तक ही करता है, उसके बाद अपने उन्हीं पुरानी आदताें पर वापस आ जाता हैं।  नये वर्ष (New Year’s) के प्रारंभ हाेने पर जिन नये आदताें काे डालने का संकल्प लिए जाते है वो इसी श्रेणी(category) में आते है।
  • किसी भी नई आदत काे डालने का सबसे कारगर तरिका यह है की उस आदत के लिये Mind काे आंतरिक रूप से तैयार करें।
  • काेई भी नई आदत डालने में आजकल के लाेग सबसे बडी गलती यह करते है कि पहले ही दिन से ज्यादा समय देना चाहते है उस आदत काे डालने के लिये। For Example ….. A संकल्प लेता है कि अब मैं प्रतिदिन सुबह जल्दी उठूंगा, 4 बजे भाेर में ही, पर हाेता क्या हैं, पहले दिन….. दूसरे दिन ….. उठता है ….. तीसरे दिन साेया ही रहता है। अब गलती कहाँ पर हुई …(याद रखें कि – A पहले सुबह 6 बजे उठता था।) A से गलती यह हुई की उसने पहले ही दिन से 4 बजे उठने की काेशिश की, जबकी ऐसा नहीं करना था। …. काे सुबह 4 बजे उठने के लिये कुछ इस तरह से अभ्यास करना चाहिए था… पहले दिन 5:45 पर… दूसरे दिन 5:30 पर …. तीसरे दिन 5:15 पर … चाैथे दिन 5:00 पर …. व पांचवें दिन 4:45 पर ….. तथा आगे के दिनों में 15 मिनट कम करते-करते आठवे दिन 4 बजे उठने लगता।
  • 15 मिनट पहले उठने के अंतर काे इंसानी शरीर सरलता पूर्वक सह लेता है इससे ज़्यादा नहीं।
  • परिवर्तन की चुनाैती के प्रेम में पड़ें और परिवर्तन की इच्छा काे बढ़ते हुए देखें।
  • बुरी आदतों काे धीरे-धीरे छाेडते जाये व उनकी जगह एक-एक अच्छी आदतों काे डालते जाये। एक दिन ऐसा आयेगा जब आपके Mind के अंदर मात्र अच्छी आदतों का भंडार हाेगा।

नज़रिया और कुछ नहीं, विचार की आदत है। चाहे वे अच्छी हाें या बुरी, आदत डालने की प्रक्रिया समान रहती है। सफल हाेने की आदत डालना भी उतना ही आसान है, जितना कि असफल हाेने की आदत डालना।

हम सभी अपनी आदतों की वजह से अपनी ज़िंदगी में खुशियाँ पा सकते हैं या फिर मुश्किल में भी पड़ सकते हैं।~Kmsraj51

Please Share your comment`s.

© आप सभी का प्रिय दोस्त ®

Krishna Mohan Singh(KMS)
Head Editor, Founder & CEO
of,,  https://kmsraj51.com/

जैसे शरीर के लिए भोजन जरूरी है वैसे ही मस्तिष्क के लिए भी सकारात्मक ज्ञान और ध्यान रुपी भोजन जरूरी हैं। ~ कृष्ण मोहन सिंह(KMS)

 ~Kmsraj51

———– © Best of Luck ® ———–

Note::-

यदि आपके पास हिंदी या अंग्रेजी में कोई Article, Inspirational StoryPoetry या जानकारी है जो आप हमारे साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ E-mail करें. हमारी Id है: kmsraj51@hotmail.com. पसंद आने पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ यहाँ PUBLISH करेंगे. Thanks!!

Also mail me ID: cymtkmsraj51@hotmail.com (Fast reply)

cymt-kmsraj51

– कुछ उपयोगी पोस्ट सफल जीवन से संबंधित –

* विचारों की शक्ति-(The Power of Thoughts)

निश्चित सफलता के २१ सूत्र।

क्या करें – क्या ना करें।

∗ जीवन परिवर्तक 51 सकारात्मक Quotes of KMSRAJ51

* विचारों का स्तर श्रेष्ठ व पवित्र हो।

* अच्छी आदतें कैसे डालें।

KMSRAJ51 के महान विचार हिंदी में।

* खुश रहने के तरीके हिन्दी में।

* अपनी खुद की किस्मत बनाओ।

* सकारात्‍मक सोच है जीवन का सक्‍सेस मंत्र 

* चांदी की छड़ी।

kmsraj51- C Y M T

“सफलता का सबसे बड़ा सूत्र”(KMSRAJ51)

“स्वयं से वार्तालाप(बातचीत) करके जीवन में आश्चर्यजनक परिवर्तन लाया जा सकता है। ऐसा करके आप अपने भीतर छिपी बुराईयाें(Weakness) काे पहचानते है, और स्वयं काे अच्छा बनने के लिए प्रोत्सािहत करते हैं।”

In English

Amazing changes the conversation yourself can be brought tolife by. By doing this you Recognize hidden within the buraiyaensolar radiation, and encourage good solar radiation to becomethemselves.

 ~KMSRAJ51 (“तू ना हो निराश कभी मन से” किताब से)

“अगर अपने कार्य से आप स्वयं संतुष्ट हैं, ताे फिर अन्य लोग क्या कहते हैं उसकी परवाह ना करें।”

~KMSRAJ51

 

अपनी सोच(विचारों) काे बदलें।

Kmsraj51 की कलम से…..

CYMT-KMSRAJ51-4

ϒ अपनी सोच(विचारों) काे बदलें। ϒ

मन साेच  व   कर्म।

समझें – मन का संबंध सोच व कर्म से। 

मन को सकारात्मक सोच या सकारात्मक सोच की ओर निर्देशित किया जा सकता हैं। याद रखें – मन को नकारात्मक सोच से हटाकर सकारात्मक सोच की ओर निर्देशित किया जा सकता हैं।

Change Your Thinking - Kmsraj51

सोच से ही सुख भी मिलें, सोच से ही दुखः भी मिलें। अगर सोच सकारात्मक हाे ताे कर्म भी सुकर्म हाेगें – ताे ही सुख मिलें, और अगर सोच नकारात्मक हाे ताे कर्म भी बुरे कर्म हाेगें – ताे दुखः ही दुखः मिलें। इसलिए सदैव अपने सोच व कर्म काे सकारात्मक रखें।

अग्नि चाहे दीपक की हो, चिराग की हो अथवा मोमबत्ती की लौ से हो, इसके दो ही कार्य है जलना और प्रकाश करना। यह हमारे विवेक के ऊपर निर्भर करता है कि हम इसका कहाँ उपयोग करें।

यही लौ मनुष्य के शरीर को शांत भी कर देती है, यही लौ अन्धकार को दूर कर सम्पूर्ण जगत को प्रकाशमय कर देती है। चिन्तन की बात यह है कि उपयोग करने के ऊपर निर्भर है वो उसी वस्तु से पुण्यार्जन कर सकता है तो थोड़ी चुक होने पर पापार्जन भी कर सकता है। सबकुछ साेच पर निर्भर हैं।

संसार में किसी भी वस्तु को, व्यक्ति को, स्थिति को कोसने की आवश्यकता नही है। जरुरत है उसका गुण, स्वभाव और प्रकृति समझकर समाज के हित में उपयोग करने की। दुनिया बड़ी खूबसूरत है इसे अपने विवेक, चिन्तन और शुभ आचरण से और अधिक सुन्दर बनाया जाये, यही सच्चा यज्ञ होगा। तभी सच्चे अर्थाें में शांति मिलेगी।

याद रखेंः- सर्वप्रथम काेई भी कर्म मन में_ब्लू-प्रिंट(विचारों) के रूप में तैयार हाेता हैं, और यही ब्लू-प्रिंट(विचार) कर्म के रूप मे प्रत्यक्ष हाेता हैं। जब ब्लू-प्रिंट(विचारों) सकारात्मक हाेगें ताे कर्म भी सुकर्म(अच्छे कर्म) हाेगें, और जब ब्लू-प्रिंट(विचारों) नकारात्मक हाेगें ताे कर्म भी विकर्म(बुरें) हाेगें।

Please Share your comment`s.

© आप सभी का प्रिय दोस्त ®

Krishna Mohan Singh(KMS)
Head Editor, Founder & CEO
of,,  https://kmsraj51.com/

जैसे शरीर के लिए भोजन जरूरी है वैसे ही मस्तिष्क के लिए भी सकारात्मक ज्ञान और ध्यान रुपी भोजन जरूरी हैं। ~ कृष्ण मोहन सिंह(KMS)

 ~Kmsraj51

———– © Best of Luck ® ———–

Note::-

यदि आपके पास हिंदी या अंग्रेजी में कोई Article, Inspirational StoryPoetry या जानकारी है जो आप हमारे साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ E-mail करें. हमारी Id है: kmsraj51@hotmail.com. पसंद आने पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ यहाँ PUBLISH करेंगे. Thanks!!

Also mail me ID: cymtkmsraj51@hotmail.com (Fast reply)

cymt-kmsraj51

– कुछ उपयोगी पोस्ट सफल जीवन से संबंधित –

* विचारों की शक्ति-(The Power of Thoughts)

निश्चित सफलता के २१ सूत्र।

∗ जीवन परिवर्तक 51 सकारात्मक Quotes of KMSRAJ51

* विचारों का स्तर श्रेष्ठ व पवित्र हो।

* अच्छी आदतें कैसे डालें।

KMSRAJ51 के महान विचार हिंदी में।

* खुश रहने के तरीके हिन्दी में।

* अपनी खुद की किस्मत बनाओ।

* सकारात्‍मक सोच है जीवन का सक्‍सेस मंत्र 

* चांदी की छड़ी।

kmsraj51- C Y M T

“सफलता का सबसे बड़ा सूत्र”(KMSRAJ51)

“स्वयं से वार्तालाप(बातचीत) करके जीवन में आश्चर्यजनक परिवर्तन लाया जा सकता है। ऐसा करके आप अपने भीतर छिपी बुराईयाें(Weakness) काे पहचानते है, और स्वयं काे अच्छा बनने के लिए प्रोत्सािहत करते हैं।”

In English

Amazing changes the conversation yourself can be brought tolife by. By doing this you Recognize hidden within the buraiyaensolar radiation, and encourage good solar radiation to becomethemselves.

 ~KMSRAJ51 (“तू ना हो निराश कभी मन से” किताब से)

“अगर अपने कार्य से आप स्वयं संतुष्ट हैं, ताे फिर अन्य लोग क्या कहते हैं उसकी परवाह ना करें।”

~KMSRAJ51

 

सफल जीवन के अनमोल सूत्र।

Kmsraj51 की कलम से…..

CYMT-KMSRAJ51-4

ϒ सफल जीवन के अनमोल सूत्र। ϒ

ॐ भूर्भुवः स्वः तत्सवितुर्वरेण्यम् , भर्गो देवस्य धीमहि धियो यो नः प्रचोदयात् ||

जीवन॰

  • जब तुम पैदा हुए थे तो तुम रोए थे जबकि पूरी दुनिया ने जश्न मनाया था। अपना जीवन ऐसे जियो कि तुम्हारी मौत पर पूरी दुनिया रोए और तुम जश्न मनाओ।

The successful formula of life-KMSRAJ51

कठिनाइया॰

  • जब तक आप अपनी समस्याओं एंव कठिनाइयों की वजह दूसरों को मानते है, तब तक आप अपनी समस्याओं एंव कठिनाइयों को मिटा नहीं सकते। क्योंकि अपनी समस्याओं एंव कठिनाइयों की वजह आप स्वयं हैं।

असंभव॰

  • इस दुनिया में असंभव कुछ भी नहीं। हम वो सब कुछ कर सकते है, जो हम सोच सकते है और हम वो सब सोच सकते है, जो आज तक हमने नहीं सोचा।

हार ना मानना॰

  • बीच रास्ते से लौटने का कोई फायदा नहीं क्योंकि लौटने पर आपको उतनी ही दूरी तय करनी पड़ेगी, जितनी दूरी तय करने पर आप लक्ष्य तक पहुँच सकते है। इसलिए लक्ष्य की ओर बढ़ें।

अर्थ- हार व जीत का॰

  • सफलता हमारा परिचय दुनिया को करवाती है और असफलता हमें दुनिया का सहीं परिचय करवाती है।

सच्चा आत्मविश्वास॰

  • अगर किसी चीज़ को आप सच्चे दिल से चाहो तो पूरी कायनात उसे तुमसे मिलाने में लग जाती हैं।

सच्ची महानता॰

  • सच्ची महानता कभी न गिरने में नहीं बल्कि हर बार गिरकर फिर से उठ जाने में हैं।

गलतियां॰

  • अगर आप समय पर अपनी गलतियों को स्वीकार नहीं करते है तो आप एक और गलती कर बैठते है। आप अपनी गलतियों से तभी सीख सकते है जब आप अपनी गलतियों को स्वीकार करते है।

चिन्ता॰

  • अगर आप उन बातों एंव परिस्थितियों की वजह से चिंतित हो जाते है, जो आपके नियंत्रण में नहीं हैं तो इसका परिणाम समय की बर्बादी एवं भविष्य में पछतावा है।

शक्ति॰

  • ब्रह्माण्ड की सारी शक्तियां पहले से हमारी हैं। वो हम हैं जो अपनी आँखों पर हाथ रख लेते हैं और फिर रोते हैं कि कितना अन्धकार है।

मेहनत॰

  • हम चाहें तो अपने आत्मविश्वास और मेहनत के बल पर अपना भाग्य खुद लिख सकते है और अगर हमको अपना भाग्य लिखना नहीं आता तो परिस्थितियां व समय हमारा भाग्य लिख ही देंगी।

सपने॰

  • सच कहे ताे सपने वो नहीं है जो हम नींद में देखते है, सपने ताे वो है जो हमको नींद हीं न आने दें।

समय॰

  • आप यह नहीं कह सकते कि आपके पास समय नहीं है क्योंकि आपको भी दिन में उतना ही समय (२४ घंटे) मिलता है जितना समय महान एंव सफल लोगों को मिलता है। समय सभी काे एक समान ही मिलता हैं।

विश्वास॰

  • विश्वास में वो शक्ति है जिससे उजड़ी हुई दुनिया में प्रकाश लाया जा सकता है। विश्वास पत्थर को भगवान बना सकता है और अविश्वास भगवान के बनाए इंसान को भी पत्थर दिल बना सकता हैं। विश्वास की नीव पर टिके है सारे रिश्तें।

सफलता॰

  • दूर से हमें आगे के सभी रास्ते बंद नजर आते हैं क्योंकि सफलता के रास्ते हमारे लिए तभी खुलते हैं जब हम उसके बिल्कुल करीब पहुँच जाते हैं।

सोच॰

  • बारिश के दौरान सारे पक्षी आश्रय की तलाश करते है लेकिन बाज़ बादलों के ऊपर उडकर बारिश को ही Avoid कर देते है। समस्याए Common है, लेकिन आपका नजरिया इनमे Difference पैदा करता है। इसलिए अपने सोचने के नजरिये काे Change करें।

प्रसन्नता॰

  • यहा पहले से निर्मित कोई चीज नहीं है… ये आप ही के कर्मों से आती है …. आपके कर्मं ही निमित्त बनते हैं।

निमित्त भाव॰

  • आप सिर्फ निमित्त मात्र हैं इस संसार में। यह संसार एक रंगमंच हैं – सभी मनुष्य आत्मायें अपना-अपना Part Play कर रही हैं। जाे आत्मा अपना Part निमित्त भाव से Play कर रही है, ओ आनंद में हैं।

याद रखेंः – जीवन में सच्चा आनंद और शांति ताे सिर्फ व सिर्फ ईश्वरीय ध्यान `या` परमात्म याद (Godly Meditation) में ही हैं। चाहे अरबाे-खरबाे (Billions – trillions) इकट्ठा कर लाे फिर भी सच्चा आनंद और शांति कभी ना मिलेगी।

ॐ शांति ॐ शांति ॐ शांति ॐ शांति ॐ शांति॥
ॐ शांति ॐ शांति ॐ शांति ॐ शांति ॐ शांति॥

Please Share your comment`s.

© आप सभी का प्रिय दोस्त ®

Krishna Mohan Singh(KMS)
Head Editor, Founder & CEO
of,,  https://kmsraj51.com/

जैसे शरीर के लिए भोजन जरूरी है वैसे ही मस्तिष्क के लिए भी सकारात्मक ज्ञान और ध्यान रुपी भोजन जरूरी हैं। ~ कृष्ण मोहन सिंह(KMS)

 ~Kmsraj51

———– © Best of Luck ® ———–

Note::-

यदि आपके पास हिंदी या अंग्रेजी में कोई Article, Inspirational StoryPoetry या जानकारी है जो आप हमारे साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ E-mail करें. हमारी Id है: kmsraj51@hotmail.com. पसंद आने पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ यहाँ PUBLISH करेंगे. Thanks!!

Also mail me ID: cymtkmsraj51@hotmail.com (Fast reply)

cymt-kmsraj51

– कुछ उपयोगी पोस्ट सफल जीवन से संबंधित –

* विचारों की शक्ति-(The Power of Thoughts)

निश्चित सफलता के २१ सूत्र।

∗ जीवन परिवर्तक 51 सकारात्मक Quotes of KMSRAJ51

* विचारों का स्तर श्रेष्ठ व पवित्र हो।

* अच्छी आदतें कैसे डालें।

KMSRAJ51 के महान विचार हिंदी में।

* खुश रहने के तरीके हिन्दी में।

* अपनी खुद की किस्मत बनाओ।

* सकारात्‍मक सोच है जीवन का सक्‍सेस मंत्र 

* चांदी की छड़ी।

kmsraj51- C Y M T

“सफलता का सबसे बड़ा सूत्र”(KMSRAJ51)

“स्वयं से वार्तालाप(बातचीत) करके जीवन में आश्चर्यजनक परिवर्तन लाया जा सकता है। ऐसा करके आप अपने भीतर छिपी बुराईयाें(Weakness) काे पहचानते है, और स्वयं काे अच्छा बनने के लिए प्रोत्सािहत करते हैं।”

In English

Amazing changes the conversation yourself can be brought tolife by. By doing this you Recognize hidden within the buraiyaensolar radiation, and encourage good solar radiation to becomethemselves.

 ~KMSRAJ51 (“तू ना हो निराश कभी मन से” किताब से)

“अगर अपने कार्य से आप स्वयं संतुष्ट हैं, ताे फिर अन्य लोग क्या कहते हैं उसकी परवाह ना करें।”

~KMSRAJ51